सेहत का राम बांड़ उपाय है पुदीना, जानें फायदे

पुदीना बारह महीने पैदा होने वाली तथा मसाले के रूप प्रयोग में की जाने वाली जड़ी-बूटी अथवा सब्जी है।

पाचन सम्बन्धी दोषोें में पुदीने का उपयोग प्रायः बहुत बार किया जाता है। पुदीने का रस अथवा चटनी भूख बढ़ाने वाली होती है।

पित्त की अधिकता, अपच, अफारा, पेट के कीड़े आदि रोगों में पुदीने के रस में नींबू का रस शहद मिलाकर देने से बहुत जल्दी लाभ होता है।

गर्मियों के दिनों में लगने वाले दोस्तों में भी इसमें लाभ होता है। पेट के भंयकर दर्द के समय पुदीने के रस में नींबू का रस और शहद मिलाकर देने से फौरन लाभ होता है।

पुदीने के पत्तों को चाय की तरह उबालकर इस्तेमाल करने से व्यक्ति के चेहरे पर निखार आता है। और वह स्वस्थ रहता है। 

जिन बच्चों को कब्ज रहने के कारण पेट में दर्द रहता है, उनके लिए भी पुदीने के पत्तों का रस अथवा पुदीने के बीजों का प्रयोग करना लाभदायक सिद्ध होता है।

उल्टियां, दस्त और हैजे की शिकायत होने पर 4-5 चम्मच पुदीने का रस थोड़े-थोड़े समय के बाद देते रहना चाहिए।

भंयकर पेट दर्द में पुदीने के बीजों का चूर्ण बनाकर अथवा उन्हें चबा कर खाने के बाद पानी पी लेने से भी लाभ होता है।

मुंह के छालों से हैं परेशान तो अपनायें ये 6 टिप्स